जोशीमठ: बर्फबारी के बाद और चौड़ी हुई इमारतों की दरारें: चमोली डीएम

पत्रिका न्यूज, चमोली. डीएम हिमांशु खुराना ने कहा कि उत्तराखंड में भू-धंसाव का सामना कर रहे जोशीमठ शहर में भारी बर्फबारी के बाद कई इमारतों में दरारें चौड़ी होने की खबरें मिली हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि बर्फबारी के कारण कोई हादसा होने पर राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और पुलिस की टीमें हाई अलर्ट पर हैं।

प्रभावित इलाकों में राहत शिविरों का हाल बताते हुए उन्होंने कहा कि प्रशासन टीमों को हर जरूरी सुविधा मुहैया कराने का काम कर रही है। डीएम खुराना ने आगे कहा कहा कि, “जोशीमठ में भारी बर्फबारी के कारण, कुछ इलाकों में इमारतों में दरारें चौड़ी होने की खबरें मिली हैं। हमारी टीम हीटर, गर्म पानी और अन्य सभी आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने के लिए भी काम कर रही है।” राहत शिविरों में बिजली की समस्याओं की निगरानी के लिए एक कार्यकारी स्तर के इंजीनियर शिविर में मौजूद हैं।”

जोशीमठ में बर्फबारी

इससे पूर्व आपदा प्रबंधन सचिव रंजीत कुमार सिन्हा ने 20 जनवरी को प्रभावित आठ काश्तकारों को तत्काल सहायता के रूप में 4 लाख रुपये की राशि आवंटित की थी। उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, जोशीमठ के नगरपालिका क्षेत्र में 18 गर्भवती महिलाएं हैं, जो फिलहाल राहत शिविरों में नहीं हैं।‌‌ ये गर्भवती महिलाएं अपने घरों में रह रही हैं।